-->
ads here

E District Kya hai Hindi Me | ई - डिस्ट्रिक्ट ऑनलाइन क्या है

advertise here
E District Kya hai Jane Hindi me | ई डिस्ट्रिक्ट की पूरी जानकारी 

भारत सरकार द्वारा जारी डिजिटल इंडिया  तहत भारत के सभी जिलों को ई डिस्ट्रिक्ट के पोर्टल से जोड़ने को कठोर कदम उठाए गए हैं।
E-district भारत के सभी राज्य में सभी तरह के ऑनलाइन सेवाओं को जोड़ने के लिए इंडियन गवर्नमेंट की तरफ से निशुल्क पोर्टल बनाया गया है। जिसके माध्यम से सभी राज्यों में चल रहे सरकारी योजनाओं व प्रमाण पत्र को इस पोर्टल से जारी करने का कार्य करता है, और इस पोर्टल के सभी राज्यों के जिलों को एक ही डिजिटल प्रकरण से जोड़ा गया है।

ई डिस्ट्रिक्ट के लाभ | फायदे

भारत के नागरिकों को या सुविधा पोर्टल स्कूल को दिया गया है जिसमें भारत के नागरिक किसी भी राज्य में किसी भी राज्य के , किसी राज्य में रहकर भी अपने प्रमाण पत्र डिजिटल (इंटरनेट) द्वारा प्राप्त कर सकते हैं। तथा सरकार द्वारा दिया गए योजनाओं में अपना नाम अपना प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। 
इस पोर्टल को जारी करने के बाद किसी भी प्रमाण पत्र बनवाने के लिए बिचौलियों दलाल और भ्रष्टाचार का रोल खत्म होता नजर आ रहा है। और दलालों द्वारा मांगे गए अधिक पैसा से भी आम जनता को निजात मिल रहा है।


E-district के अन्तर्गत प्रमाण पत्र
इस पोर्टल के माध्यम से निवासी अपने सभी तरह के प्रमाण पत्रों के लिए आवेदन कर सकते हैं। वह भी सरकारी स्कूल के माध्यम के कम से कम मानक सुन को देखा अपने प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

➥इस पोर्टल के अंतर्गत निम्न प्रमाण पत्र जारी किए जाते हैं।

➨ आय प्रमाण पत्र
➨ निवास प्रमाण पत्र
➨ जाति प्रमाण पत्र 
➨ ईडब्ल्यूएस प्रमाण पत्र
➨ जन्म प्रमाण पत्र (ग्रामीण)
➨ मृत्यु प्रमाण पत्र
➨ दिव्यांग प्रमाण पत्र
➨ खसरा खतौनी प्रमाण पत्र (Digital)
➨ शादी / विवाह प्रमाण पत्र
➨ असहाय व्यक्तियों के लिए सहायता अनुदान
➨ असहाय परिवार के लिए शादी अनुदान
➨ विधवा के लिए रोजगार अनुदान
➥इत्यादि।


भारत के अलग-अलग राज्यों के अन्तर्गत आने वाले सभी प्रमाण पात्र इस पोर्टल पर जारी किए जाते है। 
' किसी राज्यों में कुछ कम ( अपने राज्यों के आधार पर) प्रमाण पत्र जारी किए जाते हैं।

ई डिस्ट्रिक्ट कैसे कार्य करता है।

जब कोई आवेदा के डिस्ट्रिक्ट के माध्यम से अपना प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करता है तो आवेदन करने वाले को अपनी जानकारी व प्रमाण पत्र संबंधित जानकारी व ऑनलाइन फॉर्म भरना पड़ता है और उस जानकारी को प्रमाणित करने के लिए उसके उसकी व्यक्तिगत जानकारी मांगी जाती है और उस व्यक्तिगत जानकारी के प्रमाणित करने के लिए उससे उसका आईडी प्रूफ मांगा जाता है। और वह प्रमाण दस्तावेज ऑनलाइन अपलोड होता है।

 आवेदक अपने आप को प्रमाणित करने के लिए आधार कार्ड वोटर कार्ड पैन कार्ड राशन कार्ड ग्राम प्रधान / पार्षद /  द्वारा जारी निवास प्रमाण पत्र इत्यादि प्रमाण पत्र प्रमाणित होने के लिए अपलोड करना पड़ता है। अपलोड करने के बाद आवेदक को अपना प्रमाण पत्र संबंधित ब्यावरा को सबमिट करना पड़ेगा अर्थात भरे गए फॉर्म के Preview देखने के बाद, राज सरकार द्वारा निर्धारित प्रमाण पत्र शुल्क जमा करने होंगे जो कम से कम होगा (यह शुल्क जब भी होगा दलालों और बिचौलियों से बहुत ही कम होगा) जवाब निर्धारित शुल्क जमा कर लेंगे तो आपको आपके प्रमाणपत्र का रजिस्टर नंबर मिल जाएगा जिसको आप सुरक्षित कर ले। 

इतना प्रोसेस करने के बाद आपका प्रमाण पत्र संबंधित जानकारी, राज्य सरकार के उच्च अधिकारी को या संबंधित अधिकारी को Digitally भेज दिया गया है। अब आपका प्रमाण पत्र तैयार होने में कम से कम एक घंटा और अधिकतम 29 दिन का समय लग सकता है। लेकिन ज्यादातर प्रमाण पत्र 7 दिन के अंदर ही बनकर तैयार हो जाते हैं। कृपया अपना रजिस्ट्रेशन नंबर सुरक्षित रख ले और समय-समय पर या प्रतिदिन अपना स्टेटस ऑनलाइन देखते रहे।
संबंधित अधिकारी द्वारा जांच के बाद अगर आप अपने आप को प्रमाणित कर देंगे या प्रमाणित दस्तावेज प्रमाणित हो जाएगा तो आप का प्रमाण पत्र जारी कर दिया जाएगा। 

➥ जिसको आप ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं और प्रिंट करके रख ले।

अब आपका प्रमाण पत्र सत प्रतिशत सही एवं मान्य है, जो कि डिजिटल सिग्नेचर द्वारा प्रमाणित है जिसको आप ऑनलाइन ई डिस्टिक पोर्टल पर जांच एवं प्रमाणित कर सकते हैं।

Advertisement
Comment Now()